Ads (728x90)




प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी Pyaara Saja Hai Tera Dwar Bhavani

दोहा - दरबार तेरा दरबारों में इक खास अहमियत रखता है
उसको वैसा मिल जाता है जो जैसी नीयत रखता है

प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी , बड़ा न्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी
यहाँ भक्तों की लगी है क़तार भवानी

ऊँचे पर्वत भवन निराला , आके सीस नवावे संसार भवानी
प्यारा सजा है तेरे द्वार भवानी

जग मग जग मग जोत जगे है,तेरे चरणों में गंगा की धार भवानी
तेरे चरणों में गंगा के धार भवानी,तेरे भक्तों की लगी है कतार भवानी
प्यारा सजा है तेरे द्वार भवानी

लाल चुनरिया लाल लाल चूड़ा, गले लाल फूलोंके सोये हार भवानी
बड़ा प्यारा सजा है तेरे द्वार भवानी

सावन महीना मैया झूला झूले,देखो रूप कंजको का धार भवानी
प्यारा सजा है तेरे द्वार भवानी
पल में भरती झोली खाली,तेरे खुल्ले दया के भंडार भवानी
तेरे भगतो की लगी है कतार भवानी
प्यारा सजा है तेरे द्वार भवानी

हम सब को है तेरा सहारा माँ,कर दे अपने सरन का बेड़ा पर भवानी
बड़ा प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी
भक्तों की, तेरे भक्तों की, यहाँ भक्तों के लगी है कतार भवानी
प्यारा सजा है तेरे द्वार भवानी



Post a Comment