Ads (728x90)



16 श्रृंगार - हमारे हिन्दू धर्म में शादी- ब्याह में बहुत रस्मेंं होती है हर एक रस्म का अलग महत्व होता है उनमे से एक मेहंदी (Mehndi) रस्म है इस रस्म का धार्मिक तथा सांस्कृतिक महत्व है 16 श्रंगार में मेंहदी (Mehndi)का बहुत महत्वपूर्ण स्थान है आइये जानते है मेहंदी की रस्म के बारे में-  Importance of Mehndi in Marriage

16 श्रृंगार- शादी विवाह में मेंहदी का महत्‍व  - Shaadi Vivah me Mehndi Ka Mahatva

दुल्हन के 16 श्रृंगार में मेंहदी का बहुत महत्वपूर्ण स्थान है दुल्हन की मेंहदी उसके श्रृंगार को और भी सुन्दर बनाती है आज कल के समाज में शादियों में मेंहदी का विशेष आयोजन किया जाता है लड़की तथा लड़के के घरवाले मेहंदी वाली रात को गीत गाते है नाचते है मेंहदी की रस्म बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाई जाती है शादियों में वर तथा वधु को मेंहदी लगाना भारत की सबसे पुरानी परम्पराओं में से एक माना जाता है ऐसा माना जाता है की मेहंदी का गहरा रंग वर तथा वधु के बीच अटटू प्रेम का प्रतीक है वर के हाथों पर तथा वधु के हाथ पैर दोनों पर मेहंदी लगाईं जाती मेंहदी लगाने से हाथों और पैरों की रेखाओं पर भी प्रभाव पड़ता है माना जाता है कि मेंहदी लगाने से स्त्री की हाथों की रेखाएं भी बदल सकती हैं। जिसके परिणाम स्वरूप जीवन में धन-दौलत एवं सुख-समृद्धि के द्वार खुल सकते हैं शास्त्र का कहना है कि यदि कोई इंसान किसी ग्रह के कुप्रभाव से परेशान है या उसके दांपत्य जीवन में परेशानियाँ है तो मेंहदी का लाल सुर्ख रंग जीवन में खुशहाली लाने का काम करता है और इसे प्रेम का प्रतीक भी माना गया है।

यह मेंहदी का कार्यक्रम शादी से एक दिन पहले वर तथा वधु दोनों के घर पर किया जाता है, इस दिन घर की   सभी महिलायें मिलकर मेंहदी के  गीत गाती है वर वधु के मेंहदी लगाने के बाद घर की सभी महिलाएं एक दुसरे को भी मेंहदी लगाती है वर और वधु दोनों के हाथ मैं नाम का पहला अक्षर लिखा जाता है ऐसी प्रथा है की वर वधु दोनों अपने नाम का पहला अक्षर एक दुसरे के हाथ मैं ढूढ़ते है शादी के दिन  वर तथा वधू को बहुत तनाव रहता है तनाव को दूर करने के लिए मेंहदी बहुत कारगार मानी जाती है

ऐसा माना जाता है जब मुग़ल साम्राज्य ने भारत में अपनी जड़ें बनाई तब से मेंहदी का आगमन भारत में हुआ था मुगलों के लिए भी मेंहदी प्रिय एवं खास श्रृंगार माना जाता था श्रृंगार के अलावा यह उनके लिए विशेष प्रकार की सजावट की वस्तु एवं औषधि का काम भी करती थी। भारत में भी धीरे-धीरे मेंहदी का प्रयोग बढ़ने लगा इस तरह आज भारत के हर घर में शादी, विवाह, पूजा, तीज, त्यौहार अथवा कोई भी धार्मिक कार्यक्रम से पहले मेंहदी का प्रयोग किया जाता है नवरात्रि (माता के पूजन ) में भी मेंहदी का बहुत महत्व होता है

Tag - solah shringar serial, shringar ka saman, mata ka shringar list, solah shringar serial title song, 16 shringar list in hindi, solah singar song, shringar items list, solah shringar songs, What is Solah Shringar, Scientific reasons of wearing 16 shringar items, significance of Solah Shringar



Post a Comment