Ads (728x90)



मेहंदी है रचने वाली -Mehandi Hai RachneWaali

मेहंदी है रचनेवाली, हाथों में गहरी लाली
कहें सखियाँ,अब कलियाँ, हाथों में खिलने वाली हैं
तेरे मन को जीवन को नई ख़ुशियाँ मिलने वाली हैं

मेहंदी है रचनेवाली, हाथों में गहरी लाली
कहें सखियाँ अब कलियाँ हाथों में खिलने वाली हैं
तेरे मन को,जीवन को नई ख़ुशियाँ मिलने वाली हैं

हो हरियाली बन्नो
ले जाने तुझ को गुईयाँ, आने वाले हैं सैयाँ
थामेंगे आ के बइयाँ गूँजेगी शहनाई अंगनाई अंगनाई

मेहंदी है रचनेवाली, हाथों में गहरी लाली
कहें सखियाँ अब कलियाँ हाथों में खिलने वाली हैं
तेरे मन को, जीवन को नई ख़ुशियाँ मिलने वाली हैं

गायें मइया और मौसी, गायें बहना और भाभी
कि मेहंदी खिल जाये रंग लाये हरियाली बन्नी
गायें फूफी और चाची गायें नानी और दादी
कि मेहंदी मन,भाये सज जाये हरियाली बन्नी

मेहंदी रूप सँवारे हो मेहंदी रंग निखारे हो
हरियाली बन्नी के आँचल में उतरेंगे तारे

मेहंदी है रचनेवाली हाथों में गहरी लाली
कहें सखियाँ अब कलियाँ हाथों में खिलने वाली हैं
तेरे मन को जीवन को नई ख़ुशियाँ मिलने वाली हैं

गाजे बाजे बाराती घोड़ा गाड़ी और हाथी को
लायेंगे साजन तेरे आँगन हरियाली बन्नी

तेरी मेहंदी वो देखेंगे तो अपना दिल रख देंगे वो
पैरों में तेरे चुपके से हरियाली बन्नी

मेहँदी रूप सँवारे हो मेहँदी रंग निखारे, हो
हरियाली बननी के आँचल में उतरेंगे तारें

मेहंदी है रचनेवाली हाथों में गहरी लाली
कहें सखियाँ अब कलियाँ हाथों में खिलने वाली हैं
तेरे मन को, जीवन को नई ख़ुशियाँ मिलने वाली हैं

Mehandi hai rachne waali
Haathon mein gehri laali
Kahein sakhiyaan ab kaliyan
Haathon mein khilne waali hain
Tere man ko, jeevan ko
Nayi kushiyaan milne waali hain

Mehandi hai rachne waali
Haathon mein gehri laali
Kahein sakhiyaan ab kaliyan
Haathon mein khilne waali hain
Tere man ko, jeevan ko
Nayi kushiyaan milne waali hain

Ho hariyali banno..
Le jaane tujh ko guiyaan
Aane waale hain saiyaan
Thaamenge aa ke bahiyan
Goonjegi shehnaai angnaai.. angnaai..

Mehandi hai rachne waali
Haathon mein gehri laali
Kahein sakhiyaan ab kaliyan
Haathon mein khilne waali hain
Tere man ko, jeevan ko
Nayi kushiyaan milne waali hain

Gaayein maiya aur mausi
Gaayein behna aur bhabhi
Ki mehandi khil jaaye
Rang laaye hariyali banni
Gaayein phoophi aur chachi
Gaayein naani aur dadi
Ki mehandi man bhaaye
Saj jaaye hariyali banni
Mehandi roop sanvare 
Ho mehandi rang nikhare
Ho hariyali banni ke
Aanchal mein utarenge taare

Mehandi hai rachne waali
Haathon mein gehri laali
Kahein sakhiyaan ab kaliyan
Haathon mein khilne waali hain
Tere man ko, jeevan ko
Nayi kushiyaan milne waali hain

Gaaje baaje baraati ghoda gaadi aur haathi ko
Laayenge saajan tere aangan hariyali banni
Teri mehandi woh dekhenge
To apna dil rakh denge
Woh pairon mein chupke se tere hariyali banni
Mehandi roop sanwaare
O mehandi rang nikhaare
O hariyali banni ke aanchal mein utrenge taare

Mehandi hai rachne waali
Haathon mein gehri laali
Kahein sakhiyaan ab kaliyan
Haathon mein khilne waali hain
Tere man ko, jeevan ko
Nayi kushiyaan milne waali hain







Post a Comment