Ads (728x90)



 -Shadiyon main Ghuraa Pujan Ki Rasm

 शादियों में घूरा पूजन की रस्म -Shadiyon main Ghuraa Pujan Ki Rasm

अछुता पूजन के बाद शाम को घूरा पूजन की रस्म की जाती है यह रस्म भी लड़का तथा लड़की दोनों के घर पर होती है शाम के समय सभी घर की महिलाए मिलकर लड़का तथा लड़की के सर पर मोहरी बांधते है मोहरी से उसकी आँखों को भी ढक देते है इसके बाद जहाँ घर का कूड़ा डाला(घूरा ) जाता है उस जगह का पूजा लड़का व लड़की द्वरा किया जाता है घूरा पूजा के लिए एक सूप में 8 खिकड़ी,गुड़,चौमुखा दीपक,आदि सभी सामग्री से पूजा किया जाता है सभी महिलाए मिलकर लोकगीत तथा भजन गाती है


बंसी बरसाने से लाय दूंगी
  सीख ले बजाये वो 
बंसी बरसाने से लाय दूंगी
 सीख ले बजाये वो

जो कान्हा तू गीत ना जाने  
जो कान्हा तू गीत ना जाने  
अरे गीत भी तोय सिखाई दूंगी 
सीख ले बजाये वो 

बंसी बरसाने से लाय दूंगी
  सीख ले बजाये वो 

जो कान्हा तू नांच ना जाने 
जो कान्हा तू नांच ना जाने 
अरे नाचनो भी सिखाई दूंगी 
 सीख ले बजाये वो 

  जो कान्हा टू खेल ना जाने 
जो कान्हा टू खेल ना जाने 
अरे तोय खेलनो सिखाई दूंगी 
  सीख ले बजाये वो 

जो कान्हा टू प्रीत ना जाने 
जो कान्हा टू प्रीत ना जाने
अरे प्रीत भी तोय सिखाई दूंगी 
सीख ले बजाये वो 


 Tag-शादियों में घूरा पूजन की रस्म -Shadiyon main Ghuraa Pujan Ki Rasm



Post a Comment