Ads (728x90)



http://www.shaadisangeet.net/2017/04/mata-ke-lokgeet-suraaigaay.html

 Mata Ke Lokgeet-Pakhbajiya

माता के लोकगीत--पखबजिया-Mata Ke Lokgeet-Pakhbajiya  

मैया काहे की है तेरी पखबजिया 
काहे की झांझ काहे की झांझ
काहे का रंग चोलना 
काहे का हार 
ठाडे री भगत सेवा करें 

मैया अगर चन्दन की तेरी पखबजिया 
पीतल की झांझ पीतल की झांझ 
दरियाई को चोलना
 लौंगन को हार 
 खड़े  भगत सेवा करें 

मैया कौन लावे  तेरी पखबजिया 
कौन लावे झांझ कों लावे  झांझ 
कौन सी लाये रंग चोलना
 कों लावे हार
 खड़े  भगत सेवा करें 

मैया बढई   गढ़ लावे तेरी पखबजिया 
सुनर को है झांझ सुनर को है झांझ 
दरजी सी लावे तेरो चोलना
 मालिया को हार 
 खड़े  भगत सेवा करें 

मैया  कौन बजावे तेरी पखबजिया
 और कौन बजावे तेरी झांझ 
 कौन को पहने रंग चोलना 
कौन के गलहार 
 खड़े  भगत सेवा करें 

मैया धांधू बजावे तेरी पखबजिया
  भागता के झांझ   भागता के झांझ
 लांगुर पहने रंग चोलना 
मैया पहने हार देवी पहने हार 
 खड़े  भगत सेवा करें 

मैया बाजत आवे तेरी पखबजिया
 झनकारे झांझ  झनकारे झांझ 
सरकत आवे तेरो चोंलना 
महकात आवे हार 
 खड़े  भगत सेवा करें 

मैया खड़े ओ धांधू अरज करे
 मोय अन्न धनं देओ मोय 
दूध पूत देओ में फिर फिर आऊंगा तेरे द्वार 
 खड़े  भगत सेवा करें

Tag- माता के लोकगीत--पखबजिया-Mata Ke Lokgeet-Pakhbajiya  



Post a Comment