Ads (728x90)



 

लग्न के गीत - रघुनंदन फुले न समाय  - Lagan Geet - Raghunandan Phoole Na Samaye

रघुनंदन फुले न समाय 
लगन आई हरे- हरे 
लगन आई मेरे अँगना।
रघुनंदन फुले न समाय 
लगन आई हरे- हरे 
रघुनंदन फुले न समाय 

चाचा सज गए. चाची सज गईं,
सज गयी सारी बारात।
रघुनन्दन तो ऐसे सज गए, जैसे श्री भगवान
लगन आई हरे- हरे ....... 



रघुनंदन फुले न समाय 
लगन आई हरे- हरे 
लगन आई मेरे अँगना।
रघुनंदन फुले न समाय 
लगन आई हरे- हरे 
रघुनंदन फुले न समाय 


मामा सज गए. मामी सज गयीं,
सज गयी सारी बारात।
रघुनन्दन तो ऐसे सज गए, जैसे श्री भगवान।।

रघुनंदन फुले न समाय 
लगन आई हरे- हरे......  
लगन आई मेरे अँगना।
रघुनंदन फुले न समाय 
रघुनंदन फुले न समाय

भईया सज गए. भाभी सज गयीं,
सज गयी सारी बारात।
रघुनन्दन तो ऐसे सज गए, जैसे श्री भगवान।।

रघुनंदन फुले न समाय 
लगन आई हरे- हरे......  
लगन आई मेरे अँगना।
रघुनंदन फुले न समाय 
रघुनंदन फुले न समाय

फूफा सज गए. बुआ सज गयीं,
सज गयी सारी बारात।
रघुन्नदन तो ऐसे सज गए, जैसे श्री भगवान।
रघुनंदन फुले न समाय 
रघुनंदन फुले न समाय
लगन आई हरे- हरे......  
Tag - लग्न के गीत - रघुनंदन फुले न समाय - Lagan Geet - Raghunandan Phoole Na Samaye



Post a Comment