Ads (728x90)



शादी कार्ड (Wedding Invitation) शादी में सबसे महत्‍वपूर्ण होता है, इस पर लिखे जाने वाले मंत्र दोहा और शायरी (Mantra Doha Shayari) बहुत मायने रखते हैं इससे शादी के कार्ड को एक अलग ही रूप मिलता है, इसलिये हम आपके लिये लाये हैं शादी कार्ड मंत्र दोहा और शायरी (Shaadi Card Mantra Doha Shayari) को पूरा संग्रह यह आपके बहुत काम आयेगा - 

शादी कार्ड मंत्र दोहा और शायरी - Shaadi Card Mantra Doha Shayari in Hindi

शादी कार्ड मंत्र दोहा और शायरी - Shaadi Card Mantra Doha Shayari in Hindi - Wedding Card Text 

एक विघ्न हरण मंगल करण गौरी पुत्र गणेश !
प्रथम निमंत्रण आपको ब्रह्मा विष्णु महेश।।

वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभा !
निर्विघ्नम कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा !!

मंगल भवन अमंगल हारी !
द्रवहु सुदसरथ अजर बिहारी !!

क्या करिश्मा है कुदरत का कि कौन किसके करीब होता है ।
शादी उसी से होती है जो जिसके नसीब होता है ।।

हल्दी है चंदन है रिश्तों का बंधन है ।
बैस परिवार में आपका हार्दिक अभिनंदन है ।।

फलक से चांद उतरेगा तारे मुस्कुराएंगे !
हमें खुशी तब होगी जब आप हमारी शादी में आएंगे !!

मिलन है दो परिवारों का रस्म है खुशी मनाने !
का हमें तो इंतजार है बस आपके आने का !!

सोलह सावन बीत गया बाबुल की अंगनाई में !
बाबुल का घर छूट गया एक दिन शहनाई में !!

मंगलम भगवान विष्णु मंगलम गरुड़ध्वज !
मंगलम पुंडरीकाक्षाय मंगलाय तनो हरि !!

जब होती हे प्रभु की कृपा संयोग स्वयं जुड़ जाते हैं !
अपनों के स्वागत करने के अवसर यूं ही मिल जाते हैं !!

ब्याह हुआ लक्ष्मी जी का विष्णु जी के संग, राम विवाहि जानकी कृष्ण रुक्मणी संग ।।
व्याही उमा जी शिव जी से, लगी विभूति अंग ,बना सुखद संयोग से श्याम-उर्मिला संग।।

कोमल मन है राह कठिन है दोनों हैं नादान !
मंगलमय हो जीवन इनका आकर दे वरदान !!

Tag- Shadi card shayri In Hindi,बेहतरीन शादी शायरी | Marriage Shayari, शादी कार्ड शायरी Shadi Card Shayri,



Post a Comment