बन्नी के गीत - ऐसी मंहगाई में मेहमान - Banni ke Geet - Aesi Mehgai Main Mehmaan

  Banni ke Geet - Aesi Mehgai Main Mehmaan

बन्नी के गीत - ऐसी मंहगाई में मेहमान - Banni ke Geet - Aesi Mehgai Main Mehmaan 



ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते 
ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते

बन्ने/ बन्नी  के बाबा को हम शौक से बुलाते है 
बन्ने/ बन्नी की दादी बिन  बुलाये चली आती है 
आप तो आप आने बच्चों को भी लाती है 
काम कुछ करती नहीं मस्त पड़ी खाती है 

ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते 
ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते

बन्ने/ बन्नी  के चाचा  को हम शौक से बुलाते है
बन्ने/ बन्नी की चाची  बिन  बुलाये चली आती है 
आप तो आप आने बच्चों को भी लाती है 
काम कुछ करती नहीं मस्त पड़ी खाती है 

ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते 
ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते

बन्ने/ बन्नी  के ताऊ  को हम शौक से बुलाते है 
बन्ने/ बन्नी की ताई  बिन  बुलाये चली आती है 
आप तो आप आने बच्चों को भी लाती है 
काम कुछ करती नहीं मस्त पड़ी खाती है 

ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते 
ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते

बन्ने/ बन्नी  के फूफा   को हम शौक से बुलाते है 
बन्ने/ बन्नी की बुआ   बिन  बुलाये चली आती है 
आप तो आप आने बच्चों को भी लाती है 
काम कुछ करती नहीं मस्त पड़ी खाती है 

ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते 
ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते

बन्ने/ बन्नी  के जीजा को हम शौक से बुलाते है 
बन्ने/ बन्नी की दीदी बिन  बुलाये चली आती है 
आप तो आप आने बच्चों को भी लाती है 
काम कुछ करती नहीं मस्त पड़ी खाती है 

ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते 
ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते

बन्ने/ बन्नी  के मामा   को हम शौक से बुलाते है 
बन्ने/ बन्नी की मामी   बिन  बुलाये चली आती है 
आप तो आप आने बच्चों को भी लाती है 
काम कुछ करती नहीं मस्त पड़ी खाती है 

ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते 
ऐसी मंहगाई में मेहमान चले आते

Tag - बन्नी के गीत - ऐसी मंहगाई में मेहमान - Banni ke Geet - Aesi Mehgai Main Mehmaan 

Comments