बन्नी के गीत - लाडो रोवे मत ना - Banni ke Geet -Laado Rove Mat Na

  Banni ke Geet -Laado  Rove Mat Na

बन्नी के गीत - लाडो  रोवे मत ना - Banni ke Geet - Laado Rove Mat Na 

लाडो रोवे मत ना दिल तोड़े मत ना 
तुम्हे जाना है ससुराल रे अब छोड़ लड़कपन पीहर का 
वहां सास मिले वहां ससुर मिले वहां मिले सभी परिवार 
रे अब छोड़ लड़कपन पीहर का 

लाडो रोवे मत ना दिल तोड़े मत ना 
तुम्हे जाना है ........
वहां जेठ मिले वहां जेठानी मिले वहां मिले सभी परिवार 
रे अब छोड़ लड़कपन पीहर का 

लाडो रोवे मत ना दिल तोड़े मत ना 
तुम्हे जाना है ........
वहां देवर मिले वहां ननद  मिले वहां मिले सभी परिवार 
रे अब छोड़ लड़कपन पीहर का 

लाडो रोवे मत ना दिल तोड़े मत ना 
तुम्हे जाना है ........
वहां पति  मिले वहां प्यार  मिले वहां मिले घर संसार 
रे अब छोड़ लड़कपन पीहर का 


Tag-बन्नी के गीत - लाडो  रोवे मत ना - Banni ke Geet -Laado  Rove Mat Na 

Comments