माता के लोकगीत - हनुमान - Mata ke Lokgeet - Hanuman


माता के लोकगीत - हनुमान -
Mata ke Lokgeet - Hanuman

यह भी पढ़े -

अरे रावण की हनुमान जलाय आये लंका 
जलाय आये लंका बजाय आये डंका अरे रावण की ........ 

फल खाये बाग़ उजाड़े उन्हें दुःख दिये अति सारे 
मारे मेघनाथ के मान जलाय आये लंका अरे रावण की ........ 

लंका में आग लगाई सागर में पूंछ बुझाई 
उनकी भली करे भगवान् जलाय आये लंका अरे रावण की ........ 

लंका वाले घबराये घर वर से बाहर आये 
ऐसौ आयों है बलवान जलाय आये लंका अरे रावण की ........ 

सीता जी के पास आये चरणों में शीश नवाये 
सीता ने दिया वरदान जलाय आये लंका अरे रावण की ........ 

श्री राम जी के पास जाकर सीता की खबर सुनाई 
किया राम नाम गुणगान जलाय आये लंका
अरे रावण की हनुमान जलाय आये लंका 

Tag - माता के लोकगीत - हनुमान - Mata ke Lokgeet - Hanuman

Comments