गणेश चतुर्थी पूजा विधि - Ganesh Chaturthi Puja Vidhi

गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) हिंदु धर्म का एक प्रमुख त्‍यौहार है ऐसे मान्‍यता है कि गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) के दिन ही भगवान श्री गणेश का जन्‍म हुआ था, गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) को पर्व को गणशोत्सव या विनायक चतुर्थी भी कहा जाता है, गणेश चतुर्थी का पर्व पूरे 10 दिन तक चलता है और अनंत चतुर्दशी वाले दिन गणशोत्सव का समापन होता है, इस समय भगवान गणेश की पूजा घर घर में की जाती है आईये जानते हैं 

गणेश चतुर्थी पूजा विधि - Ganesh Chaturthi Puja Vidhi

यह भी पढ़े -

गणेश चतुर्थी पूजन विधि - Ganesh Chaturthi Puja Vidhi

  • सबसे पहले गणेश चतुर्थी को एक अच्छा सा महूर्त निकालकर अपने घर में गणेश जी की स्थापना करें
  • जिस जगह पर हमें गणेश जी की स्थापना करनी होती है उस जगह पर रंगोली (चौक ) बनाते है और एक लकड़ी के पत्ते पर लाल या पीला कपडा बिछा देते हैं 
  • उस कपडे पर केले के पत्ते पर मूर्ति की स्थापना की जाती है 
  • और गणेश जी के पास ही एक कलश की स्थापना की जाती है जो 11 दिन तक या जितने भी दिन के लिए आप गणेश जी को अपने घर लाये है उतने दिन वहीँ रखा जाता है कलश के ऊपर एक हरा नारियल भी होता है जो विसर्जन वाले दिन प्रसाद के रूप में बांटा जाता है 
  • सबसे पहले कलश की पूजा अर्चना रोली, कुमकुम, चावल, फूल और मिठाई से की जाती है 
  • उसके बाद गणेश जी की पूजा अर्चना की जाती है गणेश जी को विशेष रूप से दूर्वा चढाई जाती है और गणेश जी को मोदक बहुत प्रिय होते है इसलिये गणश जी को मोदक का भोग लगाकर पूरे परिवार के साथ आरती की जाती है और प्रसाद वितरित किया जाता है 
  • गणेश चतुर्थी के पूजन में श्रीगणेश के दिव्य मंत्र ॐ श्री गं गणपतये नम: का 108 बार जप करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है
Tag - Ganesh Chaturthi, गणेश पूजन विधि | Ganesh Pujan Vidhi In Hindi, गणेश चतुर्थी 2019,  

Comments